शुक्रवार, 10 सितंबर 2010

हार्दिक शुभकामनाएँ !

                                                                                   ईद       


                                                                                  और


                                                                           गणेशोत्सव 



                                                               के सुखद संयुक्त संयोग पर 

                              सभी लोगों को मेरी हार्दिक शुभकामनाएं.

4 टिप्‍पणियां:

  1. गणेश चतुर्थी एवम ईद की शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत अच्छी प्रस्तुति।

    हिन्दी, भाषा के रूप में एक सामाजिक संस्था है, संस्कृति के रूप में सामाजिक प्रतीक और साहित्य के रूप में एक जातीय परंपरा है।

    देसिल बयना – 3"जिसका काम उसी को साजे ! कोई और करे तो डंडा बाजे !!", राजभाषा हिन्दी पर करण समस्तीपुरी की प्रस्तुति, पधारें

    उत्तर देंहटाएं

ये मेरा सरोकार है, इस समाज , देश और विश्व के साथ . जो मन में होता है आपसे उजागर कर देते हैं. आपकी राय , आलोचना और समालोचना मेरा मार्गदर्शन और त्रुटियों को सुधारने का सबसे बड़ा रास्ताहै.